Ads (728x90)



Gmail और Email में क्‍या अंतर है - अक्‍सर करके Internet पर काम करते समय हमारे मन में एक सवाल हमेशा आता है कि Gmail और E-mail में क्‍या अंतर है, क्‍योंकि Gmail और E-mail देखने और सुनने में एक जैसे होते हैं तो जो लोग ज्‍यादा तकनीकी ज्ञान नहीं रखते हैं उनको यह समझने में परेशानी आती है कि Gmail क्‍या है और E-mail क्‍या है और आखिर Email ओर Gmail के बीच में क्‍या Difference है अगर आपके मन में भी यही प्रश्‍न चल रहा है तो आपके सभी प्रश्‍नों के उत्‍तर इस Post में मिलने वाले हैं तो आइये जानते हैं कि Email और Gmail में क्या अंतर है ?

ईमेल और जीमेल में अंतर - Difference Between Email and Gmail in Hindi

ईमेल और जीमेल में अंतर - Difference Between Email and Gmail in Hindi

E-mail और Gmail के बीच Difference को समझने के लिये सबसे पहले दोनों के बारे में जानना बहुत आवश्‍यक है तो सबसे पहले समझते हैं Email क्‍या है - 

ईमेल क्‍या है - What is Email in Hindi

पुराने समय में पत्राचार करने के लिए चिठ्ठी (Mail) भेजी जाती थी जो किसी पोस्‍टकार्ड (Post Card) पर लिखी जाती थी और उसपर चिठ्ठी (Mail) प्राप्‍त करने वाले का तथा भेजने वाले का दोनों का पता अंकित रहता था साथ ही जिस क्षेत्र में चिठ्ठी (Mail) भेजी जा रही है उस क्षेत्र का पिन कोड नम्‍बर (PinCode Number) भी लिखा जाता था इसके बाद यह चिठ्ठी (Mail) डाकघर (Post Office) में जाकर Post Box में डाली जाती थी

जिसके बाद डाकिया (Postman) उसे वहां से Collect करता था और सम्‍बन्धित शहर में Transport के माध्‍यम से उसे भेजा जाता था फिर उस शहर का Local Postman उस चिठ्ठी (Mail) के निश्चित पते पर पहुंचाता था इस प्रक्रिया में कई दिन लग जाते थे बहुत लोगों के लिए तो यह परेशानी का कारण भी बनता था ज्‍यादातर नौकरी पेशे वाले लोगों को सूचनायें (Informations) और Job Letters तथा निमंत्रण पत्र कभी-कभी समय निकलने के बाद प्राप्‍त होते थे

अगर आपको किसी व्‍यक्ति को तत्‍काल सूचना ( Immediately Information) भेजनी है तो तार (Telegram ) का प्रयोग किया जाता था लेकिन Telegram भेजना इतना आसान नहीं था इसके लिए विधुत संकेतों ( Electrical signals) का इस्‍तेमाल (Use) किया जाता था जिसके लिए Telegraph Machine का प्रयोग किया जाता था जिसके लिए भेजने वाले और प्राप्‍त करने वाले व्‍यक्तियों को एक विशेष प्रकार की कोड भाषा (Code language) जिसे Telegraph Code या Morse Code के बारे में जानना बहुत जरूरी था जो हर किसी के लिए संभव नहीं था 

ईमेल का इतिहास - History of Email In Hindi

लेकिन सन 1971 में अमेरिकी मूल के Computer Programmer रे टॉमलिंसन ( Ray Tomlinson) ने एक ऐसी तकनीकी का आविष्‍कार किया जिससे एक संदेश Internet Network से जुडे दो Computers पर भेजा जा सकता था इसीलिए उन्‍हें ई-मेल का जन्‍मदाता ( Father Of E-mail ) भी कहा जाता है रे टॉमलिंसन ( Ray Tomlinson) ने एक Test e-mail message के तौर पर एक ईमेल को खुद को ही भेजा था

जिसमें उन्‍होंने कुछ Text लिखे थे, जो थे “QWERTYUIOP” थे ये को‍ई खास शब्‍द नहीं थे बल्‍कि की-बोर्ड के टाइपराइटर कीज - (Typewriters Key) की ऊपर वाली लाइन के सभी कीज को प्रेस किया गया था मेल भेजनेे के लिये अरपानेट (Arpanet) नेटवर्क का यूज किया गया था 

इस अविष्‍कार ने तकनीकी दुनिया में एक प्रकार की क्रान्ति ला दी Electronic माध्‍यम से जो संदेश या कहें तो Mail भेजा गया उसे कहा गया E-mail यानी Electronice Mail, तो इस तरह जन्‍म हुआ e-mail का अगर आपका Computer एक Internet से connect है तो आप दुनियाभर में कहीं भी Seconds में अपने संदेश को Elecronice mail के माध्‍यम से भेज सकते हैं

जैसे जैसे e-mail से सूचना भेजने के फायदों के बारे में पता चलता गया तो e-mail बहुत ज्‍यादा लोकप्रिय हो गया, इस आविष्‍कार के लिए रे टॉमलिंसन ( Ray Tomlinson) को वर्ष 2012 में Internet Hall Of Fame के अवार्ड से सम्‍मानित किया गया यह अवार्ड Internet Society द्वारा दिया जाने वाला Life Time Achivment Award है 

ईमेल का आविष्कार किसने किया - Who invented email in hindi

ईमेल की खोज तो हो चुकी है लेकिन जिस तरीके से आप आप ईमेल करते हैं उसे  व्‍यवि‍स्थित करते हैं वह नहीं हुआ था इस महत्‍वपूर्ण आविष्‍कार का श्रेय भी भारत को जाता है वर्तमान में email भेजने के लिए जिस Computer Program को प्रयोग करते हैं जिसमें आने वाली email को प्राप्‍त करने के लिए Inbox, भेजी गई email को व्‍यवस्थित करने के लिए Outbox तथा email के साथ अगर कोई Document भेजना हो तो उसके लिए Attechment का भी Option था और यह Program बनाया था वीए शिवा अय्यदुरई (VA Shiva Ayyadurai) ने जो भारतीय मूल के अमेरिकी वैज्ञानिक थे

ईमेल आईडी क्या होती है - What is email id in Hindi 

E-mail से आशय तो आप समझ ही गये हैं कि e-mail का मतलब Electronice mail होता है अब समझते हैं Email Id क्‍या होती है, जैसे किसी पत्र को भेजने के लिए भेजने वाले और पत्र प्राप्‍त करने वाले दोनों के पते की आवश्‍यकता होती है उसी प्रकार एक E-mail को भेजने के लिए एक पते की आवश्‍यकता होती है चलिये समझते हैं

जब आप एक पत्र भेजते हैं तो उसमें प्राप्‍त करने वाले का नाम (Receiver) तथा उसका पता (Address) उसके बाद संदेह (Message) और इसके बाद भेजने वाले का नाम (Sender) लिखते हैं उसी प्रकार प्राप्‍त करने वाले का नाम (Receiver) तथा उसका ईमेल पता (E-mail Address) उसके बाद email Body (Message) और इसके बाद भेजने वाले (Sender) का e-mail पता होता है इसमें हर किसी व्‍यक्ति की एक Unique e-mail पता होता है जिसे e-mail Id कहते हैं एक e-mail Id प्राप्‍त करने के लिए आपको E-mail Account बनाना पडता है

E-mail Account बनाने के लिए वर्तमान में ढेर सारी e-mail Service Provider Commpany हैं जैसे Gmail, Outlook, Hotmail, Redifmail यह सभी कम्‍पनियां Free E-mail बनाने की सुविधा प्रदान करती हैं जब आप इनमें से किसी भी Website पर जाकर E-mail Account बनाने के लिए register करते हैं तब आपको एक Unique e-mail address दिया जाता है जिसे आप e-mail Id या mail address  के नाम से भी जानते हैं उदाहरण के लिए mybigguidehelp@gmail.com

ईमेल एड्रेस की संरचना - Email Address Structure in Hindi 

एक email Id दो भागों से मिलकर बनी होती है पहला User Name तथा दूसरा Domain Name इन दोनों हिस्‍सों को @ के चिन्‍ह द्वारा बांटा जाता है असल में एट चिह्न (@) की full Form है ऍट द रेट, जिसका प्रयोग गणित में किसी की दर निर्धारित करने के लिये किया जाता है।

लेकिन ईमेल में इसका प्रयोग किसी की दर निर्धारित करने के लिये नहीं बल्कि Email service provider के नाम या सोशल नेटवर्किंग साइट के नाम को दर्शाने के लिये किया जाता है। इससे यह पता चलता है कि आपका एकाउन्‍ट किस साइट पर है, या सीधे शब्‍दों में यह कहा जाता है कि आप "पर स्थित" हैं और इस एट चिह्न (@) का भी अविष्‍कार रे टॉमलिंसन ने किया था और वही ईमेल कारण हुआ इतने विशाल इंटरनेट (internet) नेटवर्क का।

आपको बता दें कि कोई भी ईमेल आईडी दो हिस्‍सों में होती है। एक हिस्‍सा जो @ के पहले होता है। इसमें आपका नाम या वह अक्षर या अंक आते हैं जिन्‍हें आप चुनते हैं और दूसरा हिस्‍सा वह होता है जो चिह्न @ के बाद आता है इसमें Email service provider के Domain का नाम लिखा जाता है।

तो अब तक आप समझ चुके हैं कि ईमेल क्‍या होता है E-mail address या email Id क्‍या होती है इसे किसने बनाया था और इसके प्रयोग से क्‍या लाभ हैं, चलिये अब जानते हैं gmail के बारे में 

जीमेल क्‍या है - What is Gmail in Hindi 

जैसे हमने आपको उपर बताया कि कोई भी email भेजने के लिए email account बनाना आवश्‍यक है तथा उसके लिए आपको किसी Webmail सेवा उपलब्‍ध कराने वाले site पर register कराना पडता है जिससे आप email भेज पाये तथा प्राप्‍त कर पायें इसी तरह से google ने 21 March 2004 को अपनी वेब आधारित email सुविधा जारी की जिसे gmail नाम दिया गया इसका उपयोग कोई भी व्‍यक्ति अपने Web browser के माध्‍यम से कर सकता है जिसके लिए उसे gmail पर Registration करना होता है

इसके बाद gmail की Website पर Login करके अपने सभी email देख सकता है और भेज भी सकता है Web आधारित email service का सबसे बडा फायदा यह है कि email का सारा Data हमेशा Online रहता है इसे Download करके रखने की आवश्‍यकता नहीं रहती है सारा Data google के Server पर सुरक्षित रहता है आपके Computer पर कोई भी Data सुरक्षित नहीं किया जाता 

जब आप gmail account में Logine करते हैं तो google के Server से सारे emails आपके Web browser में दिखाई देने लग जाते हैं जब आप gmail पर एक Free Account बनाते हैं तब आपको google के Cloud storage पर 15GB का Free Space दिया जाता है जिसका लाभ आप gmail से जुडी हुई अन्‍य Service पर भी उठाते हैं आइये जानते हैं एक gmail Id से आपको क्‍या-क्‍या फायदे मिलते हैं ओर कहां कहां gmail Id की जरूरत पडती है

जीमेल पर नई ई मेल आई डी बनाना सीखें - Make New Email Id on Gmail in hindi




जीमेल अकाउंट के फायदे - Benefits of Gmail Account in Hindi

  1. Internet की दुनिया में प्रवेश करने के लिए आपके पास एक म्‍mail ID का होना बहुत आवश्‍यक है और अगर वह ईमेल आईडी Gmail हो तो आपके ईमेल भेजने के साथ-साथ अन्‍य सुविधाओं का भी लाभ उठा सकते हैं
  2. जब पहली बार एक नया Email Account Gmail पर बनाते हैं तब आपको Google की ओर से 15 GB का Free cloud storage दिया जाता है
  3. Gmail ID बनते ही आप Google द्वारा प्रदान की गई अन्‍य सुविधाओं का लाभ भी Free में उठा सकते हैं जिनमें Youtube, Google Drive, Blogger, Google Photo, Google Meet, Google Docs, Google My Business, Google Classroom, Google Calendar जैसी Top Online Services शामिल हैं
  4. जब आप नया Android Phone लेकर आते हैं तो उसमें भी आपको Gmail ID की आवश्‍यकता होती है बिना gmail Id के आप Android Phone में कोई भी Application और Game Google के Play Store से Download नहीं कर सकते हैं
  5. अगर आप के पास gmail Id है तो वह आपके Business में और आपकी Job profile को मजबूत बनाती है आप अपने Business के लिए email Id बनाकर ग्राहकों के सम्‍पर्क में रह सकते हैं किसी Job search site पर registration कराते समय भी Email Id डालने से आपको Job notification मिलते रहेंगे
  6. अगर किसी व्‍यक्ति से आप Mobile number share नहीं करना चाहते और उनके सम्‍पर्क में भी रहना चाहते हैं तो email Id best Option है
  7. Youtube पर Chennel बनाने के लिए भी आपके पास एक Gmail Id का होना आवश्‍यक है इससे आप अपनी Information दूसरों तक तो पहुंचा ही सकते हैं साथ Online Earning भी कर सकते हैं 

महत्‍वपूर्ण लिंक - Important Links ❤

ईमेल और जीमेल में क्‍या अंतर है - What is The Difference Between Email and Gmail

चलिए अब हम यह तो समझ गये कि Gmail  तथा Email क्‍या होते हैं अब इनके बीच का मुख्‍य अन्‍तर भी समझ लेते हैं 
  • Email एक माध्‍यम है इलेक्‍टोनिक माध्‍यम से संदेश भेजने का जिसमें जरूरत होती है एक email Id की और Internet की, Email ID की Fullform होती है Electronic Mail 
  • Gmail गूगल द्वारा बनाई गई वेब मेल सर्विस है जिसपर आप मुफ्त में Email Id बना सकते हैं और साथ ही google की ढेर सारी सर्विसों का लाभ ले सकते हैं gmail की Full form google mail होती है
आशा है जानकारी आपके बहुत काम आयी होगी, अगर हां तो इसे दोस्‍तों के साथ शेयर करना ना भूलें आपका दिन शुभ हो धन्‍यवाद  

Other Computer tips and tricks

  1. कम्प्यूटर सीखें हिन्दी में - Learn Computer In Hindi
  2. सीसीसी कंप्यूटर कोर्स क्या है - What is CCC Computer Course Hindi- New *
  3. सीसीसी कंप्यूटर कोर्स इन हिंदी- CCC Computer Course in Hindi
  4. 31 फ्री फुल एक्सेल वीडियो ट्यूटोरियल
  5. कंप्यूटर टिप्स और ट्रिक्स
  6. प्रमुख तकनीकी आविष्कार और आविष्कारक
  7. हमें यूट्यूब पर जॉइन करें और पायें फ्री डेली टेक अपडेट
  8. बेस्ट वेबसाइट सभी के लिये - Best Website For Allदेखना ना भूलें 👈
  9. A to Z कंप्यूटर टर्म्स, डिक्शनरी और शब्दावली - A to Z Computer Terms, Dictionary
  10. PDF Tricks and Tips - पीडीएफ ट्रिक्स और टिप्स
  11. Internet Tips and Tricks - इंटरनेट टिप्स अौर ट्रिक्स
  12. YouTube Tips and Tricks - यूट्यूब टिप्स और ट्रिक्स
  13. Printing Tips - प्रिंटिंग टिप्स
  14. Parental Control Tips - पेरेंटल कंट्रोल टिप्स
  15. How To Guide In Hindi - हाउ टू गाइड हिन्दी में
  16. Google Search Tips and Tricks -गूगल सर्च के टिप्स और ट्रिक्स
  17. Google Now Tips and Tricks गूगल नॉउ टिप्स और ट्रिक्स हिन्दी में
  18. Google Map Tricks and Tips - गूगल मैप के टिप्स अौर ट्रिक्स
  19. Google Drive Tips and Tricks- गूगल ड्राइव के टिप्स अौर ट्रिक्स
  20. Google Chrome Tips and Tricks - गूगल क्रोम के टिप्स और ट्रिक्स
  21. Gmail Tips and Tricks - जीमेल के टिप्स और ट्रिक्स
  22. Cloud computing tips and tricks - क्लाउड कंप्यूटिंग के टिप्स और ट्रिक्स
  23. Facebook Tips and Tricks - फेसबुक के टिप्स और ट्रिक्स
  24. Android tips and tricks - एड्राइड के टिप्स अौर ट्रिक्स
  25. Blogger Tips and Tricks - ब्लागर टिप्स और ट्रिक्स




हमें सोशल मीडिया पर फॉलों करें - Facebook, Twitter, Google+, Pinterest, Linkedin, Youtube
हमारा ग्रुप जॉइन करें - फेसबुक ग्रुप, गूगल ग्रुप अन्‍य FAQ पढें हमारी एड्राइड एप्‍प डाउनलोड करें

Post a comment

Blogger