Ads (728x90)



ब्‍लू व्‍हेल गेम आने के बाद आपने डार्क इंटरनेट (Dark Internet ), डीप वेब (Deep web) और डार्क वेब (Dark web) जैसे शब्‍द सुने होगें और जानने की जिज्ञासा भी रही होगी कि आखिर क्‍या है ये डार्क इंटरनेट (Dark Internet ), डीप वेब (Deep web) और डार्क वेब (Dark web) क्‍या है तो आईये जानने की कोशिश करते हैं कि डार्क इंटरनेट क्‍या है - What is Dark Internet

डार्क इंटरनेट क्‍या है - What is Dark Internet

अगर इंटरनेट (Internet ) की बात की जाये तो आप तुरंत ही बतायेंगे कि आप इंटरनेट को अच्‍छे से जानते हैं, आप गूगल, फेसबुक, यूट्यूूब और इसके अलावा लाखों ऐसी वेबसाइट हैं जिन्‍हें अाप और आपके साथ दुनिया भर के लोग हर रोज इस्‍तेमाल करते हैं, लेकिन अगर हम कहें दुनिया भर के लोग इंटरनेट का जो हिस्‍सा इस्‍तेमाल करते हैं वह केवल पूरे इंटरनेट का केवल 5 प्रतिशत ही है तो शायद कई लोग यकीन नहीं मानेगें लेकिन ये सच है आप साधारण ताैर इंटरनेट को जो हिस्‍सा इस्‍तेमाल करते हैं या सीधे शब्‍दों में कहें तो आप इंटरनेट के जिस हिस्‍से तक पहुॅच रखते हैं वह Public Internet है इसेे Surface web भी कहते हैैं वह केवल 5 प्रतिशत ही है, अब प्रश्‍न है कि बाकी 95% इंटरनेट कौन प्रयोग करता है और वह कहां हैं तो आईये जानने की कोशिश करते हैं
इंटरनेट को access कर पाने के अनुसार उसे तीन भागों में बॉटा गया है -
  1. सर्फेस वेब (Surface Web)
  2. डीप वेब (Deep Web)
  3. डार्क वेब (Dark Web)

क्‍या है सर्फेस वेब (Surface Web)

सर्फेस वेब (Surface Web) इंटरनेट का वह भाग है जिसे आप आमतौर पर इस्‍तेमाल करते हैं इसके लिये आपको किसी special permission की अावश्‍यकता नहीं हाेती है, इन वेेबपेज पर पहुॅचने के लिये आप search engine का सहारा लेते हैं इस दूसरे तरीके से देखें तो सर्फेस वेब (Surface Web) को Google और Bing जैसे search engine इंडेक्स करते हैं और आपके द्वारा कोई भी क्‍वेरी सर्च करने पर Result के तौर पर दर्शाते हैं और ज्‍यादातर लोग इन्‍हीं सर्च इंजन का प्रयोग कर सर्फेस वेब (Surface Web) की इन वेबसाइट पर पहुॅचते हैैं, लेकिन उन पेज का क्‍या जो Google और Bing जैसे Search Engine इंडेक्स नहीं करते हैं वही होता है डीप वेब (Deep Web) और डार्क वेब (Dark Web) चलिये समझने की काेशिश करते हैं 

क्‍या है डीप वेब (Deep Web)

क्‍या आप किसी के बैंक खाते की जानकारी को इंटरनेट पर सर्च करते हैं या आप किसी वेेेबसाइट का एडिमिन पैनल देख्‍ा सकते है, क्‍या ईमेल को गूगल पर सर्च किया जा सकता है या फिर ब्‍लॉगर या वर्डप्रेस की ड्राफ्ट पोस्‍ट को इंटरनेट पर सर्च किया जा सकता है ? तो इसका सीधा जबाब होगा नहीं, इसके लिये आपको उस पेज के एडमिन की परमीशन की आवश्‍यता होगी साथ ही आपको Access करने के लिए password का पता होना भी जरूरी है तभी आप उस जानकारी को Access कर पायेगें यानि डीप वेब (Deep Web) के अन्‍तर्गत internet के वे सभी Web Pages आते हैं, जिन्‍हे Search Engine में सर्च नहीं कर पाते हैं लेकिन ये लीगल होते हैं, डीप वेब (Deep Web) को Invisible Web के नाम से भी जाना जाता है, इसमें अन्‍तर्गत जो पेज आते हैं वह हैं ब्लॉग प्लेटफार्म, ड्राफ्ट पेज, साइंटिफिक रिसर्च, एकेडमिक और कॉर्पोरेट डाटाबेस, गवर्नमेंट पब्लिकेशन्स, इलेक्ट्रॉनिक बुक्स, ईमेल, डिरेक्टरी आदि 

क्‍या है डार्क वेब (Dark Web) 

कुछ सालाें पहले डीप वेब (Deep Web) अाैर डार्क वेब (Dark Web) काे एक ही माना जाता था लेकिन गैर कानूनी गतिविधियों वजह से इसे दो हिस्‍सों डीप वेब (Deep Web) अाैर डार्क वेब (Dark Web) में विभाजित कर दिया गया डार्क वेब (Dark Web) डीप वेब (Deep Web) का ही हिस्‍सा है, इसका प्रयोग इंटरनेट पर सभी प्रकार के गैर कानूनी काम करने के लिये किया जाता है जैसे ड्रग्स खरीदना व बेचना, किसी भी तरह का ख़तरनाक से ख़तरनाक हथियार खरीदना व बेचना, मानव तस्करी, ATM Debit/Credit Card की जानकारी चुराकर किसी को बेचना आदि, डार्क वेब (Dark Web) पेज पर आम तरीकों से नहीं पहुॅचा जा सकता है, यहां पहुुॅुचने के लिये लोग एक अलग ब्राउजर का इस्‍तेमाल करते हैं, जिसे टॉर कहते हैं, TOR एन्क्रिप्शन टूल से डार्क वेब (Dark Web) पेज को एनक्रिप्ट किया जाता है ये साइट छुप जाती है, सर्च इंंजन इसे इंडेक्स नहीं पाते और यह सिर्फ टॉर ब्राउजर पर ही दिखती हैं

Tag - What is the deep/dark web, deep web dark web surface web kya hai puri jankari, The Hidden Internet, Dark Web,Surface Web,Deep Web kya hai, Black internet, Deep Web Kya Hai, dark web search engine



हमें सोशल मीडिया पर फॉलों करें - Facebook, Twitter, Google+, Pinterest, Linkedin, Youtube
हमारा ग्रुप जॉइन करें - फेसबुक ग्रुप, गूगल ग्रुप अन्‍य FAQ पढें हमारी एड्राइड एप्‍प डाउनलोड करें

Post a Comment

Blogger
  1. आपकी इस प्रविष्टि् के लिंक की चर्चा कल शुक्रवार (18-08-2017) को "सुख के सूरज से सजी धरा" (चर्चा अंक 2700) पर भी होगी।
    --
    सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है।
    --
    चर्चा मंच पर पूरी पोस्ट अक्सर नहीं दी जाती है बल्कि आपकी पोस्ट का लिंक या लिंक के साथ पोस्ट का महत्वपूर्ण अंश दिया जाता है।
    जिससे कि पाठक उत्सुकता के साथ आपके ब्लॉग पर आपकी पूरी पोस्ट पढ़ने के लिए जाये।
    स्वतन्त्रता दिवस और श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की
    हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।
    सादर...!
    डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक'

    ReplyDelete
  2. हम्म्म्म बढ़िया जानकारी :)

    ReplyDelete