आपने अक्‍सर कंम्‍यूटर जानने वालों से सॉफ्ट कॉपी और हार्ड कॉपी जैसे यह शब्‍द जरूर सुने होगें और कई लोगों को इन दोनों शब्‍दों में कन्फ्यूजन भी रहा होगा, लेकिन अब कोई कन्फ्यूजन नहीं माय बिग गाइड FAQ में हम बता रहे हैं कि क्‍या होती हैं सॉफ्ट कॉपी और हार्ड कॉपी - 


आपने कंप्‍यूटर में कोई फाइल तैयार की, मान लीजिये एमएस वर्ड में कोई लैटर टाइप किया, अब आपको किसी व्‍यक्ति को वह एमएस वर्ड वाली फाइल की कॉपी देनी है तो अापने मेल के जरिये या पेनड्राइव उस फाइल की कॉपी करके दे दिया। इस प्रकार आपने बिना प्रिंट किये उस फाइल की कॉपी काे किसी व्‍यक्ति को दी, इसे फाइल की सॉफ्ट कॉपी कहेगें। इसका एक उदाहरण ईमेल के द्वारा फोटो या डॉक्यूमेंट भेजना भ्‍ाी है। इसे इलैक्ट्रिक प्रति तैयार करना भी कहते हैं। बहुत से व्‍यक्ति अपने जरूरी डॉक्यूमेंट की एक डिजिटल कॉपी स्कैन करके अपने कंप्‍यूटर या क्‍लाउड पर भी सुरक्षित रखते हैं।
लेकिन अगर आप उसी डॉक्यूमेंट की कॉपी प्रिंटर द्वारा प्रिंट कर रहे हैं तो असल में आप उसकी हार्ड कॉपी या कागज़ी प्रति तैयार कर हैं। 

what is hard copy, software copy, soft cut, soft paste, peripheral, access, what does soft copy mean, hard copy vs soft copy

loading...

हमें सोशल मीडिया पर फॉलों करें - Facebook, Twitter, Google+, Pinterest, Linkedin, Youtube
हमारा ग्रुप जॉइन करें - फेसबुक ग्रुप, गूगल ग्रुप अन्‍य FAQ पढें हमारी एड्राइड एप्‍प डाउनलोड करें

Post a Comment

Blogger