चुकिं कंप्यूटर क्षेत्र (Computer Zone) में रोज नई तकनीकें (New technologies) बाजार मेँ आ रही है इसलिए यह फैसला करना कि कौन सा कंप्यूटर खरीदा जाए (Which computer to be purchased) कौन सा कंप्यूटर अच्छा है (Which computer is best) बहुत मुश्किल होता है, अगर अाप बाजार से नया कम्‍प्‍यूटर ख्‍ारीदने की सोच रहे हैं तो खरीदारी से पहले कुछ बेसिक बातेँ (Basic things) जान लें हो सकता है कि आपकी कंप्यूटर की खरीदारी आसान हो जाये - How to Buy a New Computer Tips in Hindi - नया कंप्यूटर खरीदने से कुछ बातों पर ध्‍यान दें 


Desktop computer vs. Laptop computer - लेपटॉप या डेस्कटॉप

लैपटॉप (Laptop) बेहतर है या डेस्‍कटॉप (Desktop), इस विषय पर भी बहुत लम्‍बी बहस हो सकती है। दोनों की ही अपनी-अपनी विशेषता यें हैं साथ ही कुछ परेशानियॉ भी जुडी हुई हैं, जैसे कि डेस्‍कटॉप को आप लैपटॉप की तरह कहीं भी बैग में रखकर ले जा नहीं सकते हैं, ऐसे ही लैपटॉप का की-बोर्ड (Keyboard) और माउस (Mouse) खराब होने पर बाजार से तुरंत खरीदकर अपना काम शुरू नहीं कर सकते हैं। फिर ऐसे में कौन बेहतर है और किसका चुनाव करना चाहिये, सीधी सी बात है डेस्‍कटॉप देखने में भले ही भारी-भरकम और बडा होता है लेकिन डेस्‍कटॉप का मेंटेनेंस (Desktop Maintenance) उतना ही सस्‍ता (Cheap) और अासान होता है जबकि इसके विपरीत लैपटॉप का मेंटेनेंस (Laptop Maintenance) कहीं मॅहगा होता है, लैपटाॅप, डेस्‍कटॉप के मुकाबले एक नाजुक उपकरण है, लेकिन पोर्टेबल भी है। तो अगर आपके काम से हिसाब से आपको लगता है कि आपको ऐसे पोर्टेबल उपकरण (Portable Device) की आवश्‍यकता है जो आपके साथ कहीं जा सके तो लैपटॉप लें, अगर नहीं तो आप डेस्‍कटॉप (Desktop) का चुनाव करें। 

प्रोसेसर (Processor)

बाजार में आजकल बहुत उन्‍नत किस्‍म के प्रोसेसर (advanced processor) उपलब्‍ध है, जैसे कोर आइ 5 (Core i 5), कोर आइ 7 (Core i 7) अगर अाप घरेलू यूजर (Home User) हैं तो आपको इन प्रोसेसर की गति का अन्‍तर पता भी नहीं चलेगा, घरेलू काम के लिये आप कोर आइ3 या ड्यूल कोर का भी चुनाव कर सकते हैं, कोर आइ 5, कोर आइ 7 के मुकाबले यह काफी सस्‍ते (quite cheap) होते हैं।

रैम  (RAM)

रैम (RAM) आपके कंप्‍यूटर को वर्किग स्‍पेस (Working Space) देती है, अगर सीधी भाषा में कहें तो आपके कंप्‍यूटर रैम जितनी ज्‍यादा है हैंग होने की संभावना उतनी ही कम होती है, वैसे आजकल 2 GB से कम रैम तो किसी लैपटॉप अौर कंम्‍प्‍यूटर में आ ही नहीं रही है, लेकिन अगर आप कंप्‍यूटर की स्‍पीड बढाना चाहते हैं तो 4 GB रैम (4GB RAM) का चुनाव कर सकते हैं।


ग्राफिक कार्ड (graphic card)

सभी मदरबोर्ड (Motherboard) के साथ ही ग्राफिक कार्ड (graphic card) इनबिल्‍ट आता है, जिससे आप बेव ब्राउजिंग(Web Browsing), मूवी और गेम्‍स का अानन्‍द लैपटॉप (Laptop) उठा पाते हैं, इसलिये अगर आपको अपने रोजमर्रा के काम जैसे एमएस ऑफिस (MS Office) के अलावा बेव ब्राउजिंग, मूवी और गेम्‍स खेलने हैं तो आपको ग्राफिक कार्ड के बारे में ज्‍यादा सोचने के जरूरत नहीं है।

हार्ड डिस्क ड्राइव (Hard Disk Drive)

घर और ऑफिस (Home and Office) के काम में बडा ही अंतर होता है। ऑफिस में आप ज्‍यादातर वर्ड और एक्सेल (Word and Excel) जैसी एप्‍लीकेशन पर काम करते हैं, इनकी फाइलें ज्‍यादा जगह नहीं घेरती हैं लेकिन घर में आप कंप्‍यूटर में काम के साथ-साथ गेम्‍स (Games), फोटो, मूवी भी स्‍टोर करते हैं, जिसके लिये आपको ज्‍यादा स्‍पेस की जरूरत होती है। वैसे भी अगर आप केवल अब मोबाइल के फोटाे और वीडियो की क्‍वालिटी भी हाई होती जा रही है और अगर आप उनके फोटो और वीडियो (Photo and Video) भी कंप्‍यूटर में स्‍टोर करें तो आपको ज्‍यादा स्‍पेस वाली हार्डडिस्‍क (high capacity hard disk) का चुनाव करना होगा,  इसलिये हार्ड डिस्क ड्राइव (hard disk drives) का चुनाव बडा ही सोच समझकर करें, आजकल 500जीबी से लेकर 2000 जीबी तक की हार्डडिस्‍क बाजार में उपलब्‍ध है। 

स्‍क्रीन साइज  (Screen Size)

बहुत से व्‍यक्ति लैपटॉप का चुनाव स्‍क्रीन साइज (Screen Size) से करते हैं, लेकिन लैपटॉप का चुनाव स्‍क्रीन साइज को देखकर कभी ना करें, एक तो स्‍क्रीन साइज बडा होने से लैपटॉप भारी (Heavy) हो सकता है, साथ ही अगर डिस्प्ले कम रेजोल्यूशन (Low resolution) वाला हुआ तो कंप्यूटिंग एक्सपीरिएंस (Computing Experience) खराब भी हो सकता है। इसलिये अच्‍छे रेजोल्यूशन (Good resolution) वाला स्‍क्रीन ही पसंद करें, अगर अच्‍छा दिखाई नहीं दिया तो आपका पैसा वेस्‍टेज (Money wastage) ही समझिये। स्क्रीन रेजोल्यूशन जरूर देखें। डेस्‍कटॉप के लिये आप अपनी सुविधानुसार स्‍क्रीन साइज का चुनाव कर सकते हैं, वैसे मीडियम साइज 18.5 इंज का डिस्‍प्‍ले बिलकुल सही होता है, लेकिन अगर आपको कंम्‍प्‍यूटर पर मूवी देखने का शौक है या आप उस पर टीवी ट्यूनर (TV tuner) लगाकर टीवी देखना चाहते हैं तो 22 इंच मॉनिटर (22 inch monitor) साइज पर्याप्‍त है।

वाई फाई कनेक्टिविटी  (Wi-Fi connectivity)

इंटरनेट (Internet) प्रयोग करने के लिये वाई-फाई नेटवर्क (Wi-Fi network) आम बन गया है, वाई-फाई की सहायता से इंटरनेट श्‍ोयर (Internet Sharing) करना भी बहुत आसान हो गया है अब अाप किसी भी फोन को वाई-फाई राउटर या हॉटस्‍पाट में बदलकर आसानी से इंटरनेट शेयर कर सकते हैं, इतना ही नहीं आप अन्‍य उपकरणों को भी वाई फाई की सहायता से कमाण्‍ड आदि दे सकते हैं, अब तो वाई-फाई प्रिंटर (Wi-Fi printer) का भी चलन शुरू हो गया है, वाई फाई से ब्‍लूटूथ की तुलना में कई गुना तेजी से डाटा ट्रान्‍सफर किया जा सकता है, यह 1 सेकेण्‍ड में 60 MB डाटा ट्रान्‍सफर कर सकता है, इसलिये कंप्‍यूटर और लैपटॉप खरीदने से पहले यह जरूर चैक करें कि उसमें वाई फाई कनेक्टिविटी (Wi-Fi connectivity) है या नहीं।

Things to Know Before You Buy a New Computer, How to Buy a New Computer in Hindi, Buying a new computer, computer tips in hindi, buying a new computer, Best Computer Buying Guide in Hindi, new hard drive or new computer, computer hardware

loading...

हमें सोशल मीडिया पर फॉलों करें - Facebook, Twitter, Google+, Pinterest, Linkedin, Youtube
हमारा ग्रुप जॉइन करें - फेसबुक ग्रुप, गूगल ग्रुप अन्‍य FAQ पढें हमारी एड्राइड एप्‍प डाउनलोड करें

Post a Comment

Blogger
  1. best information for purchase of computer

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्‍यवाद सागर जी

      Delete
  2. अच्छी जानकारी दी आपने

    ReplyDelete