आज कल laptop, tablet या Smart Phone का प्रचलन इतना बढ गया है कि हम सारे दिन इनमें व्‍यस्‍त रखते हैं, मतलब सीधा सीधा यह है कि हमारी ऑखें भी व्‍यस्‍त रखती है, जिससे हमारी ऑखों को तरह-तरह की परेशानी भी हो जाती हैं, चूकिं इन सभी प्रकार के Gadgets की स्‍क्रीन की तीखी रोशनी सीधे हमारी ऑखों को नुकसान पहॅुचाती है, इसी को ध्‍यान में रखते हुए Apple कम्‍पनी के Founder steve jobs ने एक ऐसी तकनीक को विकसित किया जिससे फोन की स्‍क्रीन आपको ऑखों को नुकसान नहीं पहॅुचा पायें।

क्‍या है रेटिना डिस्‍प्‍ले तकनीक 
हम किसी भी डिस्‍प्‍ले (laptop, tablet या Smart Phone, ipad, macbook etc) पर पिक्‍चर को Pixel के माध्‍यम से देख पाते है, और किसी भी Image को अधिक साफ  देखने के लिये Pixel का अधिक संख्‍या में होना आवश्‍यक है, रेटिना डिस्‍पले तकनीक में इन्‍हीं पिक्‍सल को बहुत अधिक बढा दिया गया है, जिससे स्‍क्रीन पर देखते समय हमारी ऑखों पर कम प्रभाव पडता है, यह बिलकुल वैसा ही है, जैसा कोई किताब पढना। और इस तकनीक को बनाया भी इसलिये गया है। इस स्‍क्रीन में ज्‍यादा चमक नहीं होती है, बस यह अन्‍य स्‍क्रीन के मुकाबले अधिक स्‍पष्‍ट होती है। 

loading...

हमें सोशल मीडिया पर फॉलों करें - Facebook, Twitter, Google+, Pinterest, Linkedin, Youtube
हमारा ग्रुप जॉइन करें - फेसबुक ग्रुप, गूगल ग्रुप अन्‍य FAQ पढें हमारी एड्राइड एप्‍प डाउनलोड करें

Post a Comment

Blogger
  1. आपकी यह उत्कृष्ट प्रस्तुति कल शुक्रवार (10.01.2014) को " चली लांघने सप्त सिन्धु मैं (चर्चा -1488)" पर लिंक की गयी है,कृपया पधारे.वहाँ आपका स्वागत है,नव वर्ष की मंगलकामनाएँ,धन्यबाद।

    ReplyDelete
  2. आपकी इस ब्लॉग-प्रस्तुति को हिंदी ब्लॉगजगत की सर्वश्रेष्ठ कड़ियाँ (3 से 9 जनवरी, 2014) में शामिल किया गया है। कृपया एक बार आकर हमारा मान ज़रूर बढ़ाएं,,,सादर …. आभार।।

    कृपया "ब्लॉग - चिठ्ठा" के फेसबुक पेज को भी लाइक करें :- ब्लॉग - चिठ्ठा

    ReplyDelete
  3. आपकी इस ब्लॉग-प्रस्तुति को हिंदी ब्लॉगजगत की सर्वश्रेष्ठ कड़ियाँ (3 से 9 जनवरी, 2014) में शामिल किया गया है। कृपया एक बार आकर हमारा मान ज़रूर बढ़ाएं,,,सादर …. आभार।।

    कृपया "ब्लॉग - चिठ्ठा" के फेसबुक पेज को भी लाइक करें :- ब्लॉग - चिठ्ठा

    ReplyDelete